Skip to toolbar

मेरे पिछली Post में हमने जाना की comfort zone में रहने से हमें क्या नुकसान हो सकता है, यदि आपने वो Post नहीं पढ़ी हो, तो आप वो post यंहा click कर के पढ़ सकते हो….. Comfort Zone-Part-1

मैं आप सब का स्वागत करता हूँ, और साथ ही बधाई भी देता हूँ की, आपने अपना पहला कदम इस comfort zone से बाहर निकालने के लिए बढ़ा लिया है…. जी हाँ ……..क्यों की आप ये Post पढ़ रहे है…..

A fish come Out of the Comfort Zone

इस image को ध्यान से देखिये, एक fish अपने comfort zone से बाहर निकल रही है, just Imagine this is not a fish, it’s you, Yes आप को भी ऐसे ही करने की आवश्यकता है, इसके लिए आप को job छोड़ने की जरुरत नहीं है, बल्कि आप वही रह कर भी कुछ नया कर सकते हो, आप को सिर्फ उन लोगो का साथ छोड़ना है, जो आप को comfort zone से निकलने नहीं दे रहे है|

बदलाव एक दिन में नहीं आता है, लेकिन एक दिन जरुर आता है……………… क्या पता वो एक दिन आज ही हो…………

इसे हम थोड़ा detail में समझते है………………..

Take Little Risk:

आप को जब भी कुछ choose करने का अवसर मिले,तब आपको थोड़ा risky option choose करना है,इससे होगा ये की आप अपने comfort zone से निकलने की शुरुवात कर पाओगे|

Challenge yourself:

कल से बेहतर करने के लिए आप अपने आप को challange करे, जो काम आप कल नहीं कर पाते थे, उस काम को धीरे धीरे शुरु करे… eg. यदि आप अजनबियों से बात करने में comfortable नहीं थे, तो रोज 5-10 अजनबियों से बात करने की कोशिश करे…… आप उनसे time पूछ सकते है, कही का रास्ता पूछ सकते हो….. और ऐसे ही छोटी छोटी help ले सकते हो.

Face Your Fear:

अपने डर का सामना करे, क्यों की डर के आगे जीत है…. हम अपने comfort zone से इस डर की वजह से भी बाहर नहीं निकल पाते है, हमें डर है, की हमने कुछ नया किया और हम सफल नहीं हुए तो………… इस डर की वजह से ही हम कुछ भी नया Try नहीं करते है… अपने मन ही मन में ये बात दोहराते रहे, की मुझे डर नहीं लगता….. मुझे डर नहीं लगता” I am Fearless….

Think Big:

जितना सोचोगे उतना ही मिलेगा…..क्यों की हमारा Mind हमें बार बार ये याद दिलाता है……. eg. यंहा हमें छोटे बच्चे की तरह सोचना चहिये , छोटे बच्चे को जब भी कुछ चायिये तो वो बड़ी चीज की demand करता है, उसे मालूम होता है, की बड़ी नहीं तो छोटी तो जरुर मिलेगी…..यदि छोटी ही मागूंगा तो कुछ भी नहीं मिलने वाला, ठीक वेसे ही हमें हमारी सोच को बड़ा करना होगा…. एक कहावत है, “छोटी सोच और पांव की मोच कभी आगे नहीं बढ़ने देती”

Change your routine:

Eg. Lift की जगह आप सीढ़ी का उपयोग करे, अपने lunch Time को change कर के देखे , घर आने का रास्ता बदल कर देखे, ,इससे आप नए लोगो से मिलेंगे, और आप इन छोटे छोटे बदलाव से बड़े बदलाव की और बढ़ना सिख जायेंगे|

Learn to Leave:

क्या आप ने कभी सोचा है, की हम इस comfort zone से बाहर क्यों नहीं निकल पाते है….. मैं बताता हूँ ,क्यों की हम अपनी आज की ख़ुशी या सिर्फ आज के बारे में सोचते है….जिस दिन हम अपने future के बारे में सोचना सुरु कर देंगे, उस दिन हम अपने comfort zone से निकलने के बारे में भी सोचने लग जायेंगे, यदि आप अपने कल को सोच कर आज regret कर रहे है, तो यही सही समय हे, अपने comfort zone को छोड़ने का… क्यों की कुछ पाने के लिए कुछ खोना पड़ता है………. यंहा खोने का मतलब अपने आराम भरी life से है…..

Replace your negative thinking with positive one:

आप के मन में जैसे ही negative Thought आये उसे positive thought के साथ बदल ले eg. मैं ये घर नहीं खरीद सकता…. को आप कुछ इस तरह भी कह सकते है,…. मैं अभी ये घर नहीं खरीद सकता….पहले sentance में आप अपनी कमजोरी बता रहे है, जबकि दुसरे sentance में आप ये बता रहे है, की मैं अभी नहीं खरीद सकता ,लेकिन आगे future में खरीद सकता हूँ| आप जब भी negative सोचते है , आप का mind ये मान लेता है की ये आप नहीं कर सकते है और आपका दिमाग आप को ये बात बार बार याद भी दिलाता हे.

“Quotes or motivational posts won’t work unless you work.”
 यदि आप इस image को पढने की कोशिश कर रहे है, और पढ़ पा रहे है, तो इसका मतलब है, आप comfort zone से निकलने की कोशिश कर रहे है … Congratulations………

तो हमने देखा की हम यदि कोशिश करे तो comfort zone से बाहर निकल सकते है.

2 Comments

Leave a Reply

%d bloggers like this: